-->
पाए सभी खबरें अब WhatsApp पर Click Now

Below Post Ad

Image
 प्रतिबंध के बाद भी सिंगल यूज पॅालीथिन का हो रहा उत्पादन

प्रतिबंध के बाद भी सिंगल यूज पॅालीथिन का हो रहा उत्पादन


नौगांव। कलेक्टर के निर्देष पर नौगांव में सिंगल यूज पॉलीथिन का उपयोग धड़ल्ले से हो रहा है उत्पादन से लेकर उपयोग भी किया जा रहा है। समय समय पर नपा की टीम कार्यवाही तो करती है लेकिन हाल फिर जस के तस हो जाते है। दुकानदार से लेकर ग्राहक तक वस्तुओं की बिक्री और खरीददारी के लिये सिंगल यूज पॉलीथिन का उपयोग कर रहे है। जिस पर नपा के कर्मचारी के द्वारा कार्यवाही शुरूवात में की गयी। सिंगल यूज पॉलीथिन पर केन्द्र सरकार के द्वारा प्रतिबंध लगाया गया क्योकि पर्यावरण और स्वास्थ्य दोनो के लिये यह हानिकारक है। 19 प्रकार की सिंगल यूज पॉलीथिन पर दो साल पहले जुलाई माह में प्रतिबंध लगा था। जिसमें उत्पादन और बिक्री में यह 19 वस्तुयें शामिल थी । थर्माकोल से बनी प्लेट, कप, गिलास, कटलरी जैसे कांटे, चम्मच, चाकू, पुआल, ट्रे, मिठाई के बक्सों पर लपेटी जाने वाली फिल्म, निमंत्रण कार्ड, सिगरेट पैकेट की फिल्म, प्लास्टिक के झंडे, गुब्बारे की छड़ें और आइसक्रीम पर लगने वाली स्टिक, क्रीम, कैंडी स्टिक शामिल थी। आज के  समय में बड़े पैमाने पर प्लास्टिक का इस्तेमाल हो रहा है अधिकांश व्यापारी इस पर निर्भर हो गया। जिस प्लास्टिक का उपयोग किया जा रहा है उसके दुष्परिणाम है। इसलिये सरकार के द्वारा बैन लगाया गया लेकिन उपयोग बंद नहीं हुआ। लगातार दो वर्षो से समय समय पर कार्यवाही दुकानदारों पर की गयी। जिसके बाद भी दुकानदार से लेकर ग्राहक वस्तुओं की बिक्री और खरीदी में उपयोग कर रहे है। जो पर्यावरण और वन्य जीवन के लिये सबसे बड़ा खतरा है यह प्रदूषण को बढ़ाने के लिये जिम्मेदार है।
कलेक्टर के निर्देश पर हुई कार्यवाही -
कलेक्टर के निर्देश पर गुरूवार को नपा से सुनील यादव, समीर मंसूरी, दंगल बाल्मिक, दिनेश वाल्मिक  को बीएल की बैठक में कलेक्टर संदीप जीआर, नपा सीएमओ नीतू सिंह को सिंगल यूज पॉलीथिन पर कार्यवाही करने के लिये निर्देशित किया गया। जिसको लेकर नपा की टीम दुकानों पर पहुंचीे। सिंगल यूज पॉलीथिन मिलने पर चालानी कार्यवाही की।
जागरूकता जरूरी -
सरकार से लेकर प्रशासन तक न केवल सिंगल यूजल पॉलीथिन पर कार्यवाही और इसके रोकथाम के लिये काम कर रही है लेकिन आम लोगों की भी जिम्मेदारी बनती है वह इसका उपयोग न करे। साथ ही घरों और दुकानों से निकलने वाला कचरा भी मनमर्जी से लोग कहीं पर भी फेंक देते है जिसके लिये जागरूकता जरूरी है नपा के कचरा वाहन के अलावा उन चिन्हित स्थानों पर कचरा डालना चाहिए। जहां पर नपा के वाहन उसको उठा ले।

--- इसे भी पढ़ें ---

Ads on article

Advertise in articles 1

advertising articles 2

Advertise under the article

-->