-->
पाए सभी खबरें अब WhatsApp पर Click Now

Below Post Ad

Image
शहर की जमीनों पर बुन्देलखण्ड परिवार की नजर

शहर की जमीनों पर बुन्देलखण्ड परिवार की नजर

सिविल न्यायालय के स्टे के बावजूद निर्माण कार्य करने में लगे माफिया
छतरपुर।जिले सहित पूरे प्रदेश में विख्यात बुन्देलखण्ड बस सर्विस परिवार अब अपने नाम को बदनाम करने पर उतारू हो गए है। बुन्देलखण्ड परिवार की शान माने जाने वाले बंटू अग्रवाल का जब से निधन हुआ है तब से यह परिवार नीति पर चलना भूल चुका है। एक समय था कि बुन्देलखण्ड परिवार का नाम चला करता था। वह नाम आज भी लोगों की जुवांन पर रहता है। अब उस नाम को बदनाम करने में इसी परिवार के पवन अग्रवाल पूरी तरह से मिटाने में लगे हुए है। लोगों की जमीनों पर जबरन कब्जा कर प्लाटिंग करने का काम करने में लगे हुए है। विगत दिनों पहले नौगांव रोड स्थित एक प्राईवेट जमीन से जबरन यह परिवार सडक़ बनाने के लिए जेसीबी लेकर पहुंच गए थे। पुलिस की समझाईश पर मामला शांत हुआ था। यह मामला लोगों के मुंह पर चल ही रहा था कि एक अन्य मामला सिविल लाईन थाने के सामने की जमीन का प्रकाश में आ गया। जहां पर पूर्व विधायक शंकर प्रताप सिंह मुन्ना राजा का कोईलेना देना भी नहीं है। जबकि वह जमीन मुन्ना राजा बसारी के रिश्तेदार के नाम है और निर्माण को लेकर उस जमीन पर अनुविभागीय अधिकारी के यहां से रोक भी लगी हुई है। इसके बावजूद भी बुन्देलखण्ड परिवार के पवन अग्रवाल ने मुन्ना राजा बसारी को बदनाम करने की साजिश रच डाली।
क्या है पूरा मामला-
जानकारी के अनुसार पन्ना निवासी श्रीमति अल्का सिंह पत्नी स्व. योगेन्द्र सिंह छतरपुर मौजा बगौता स्थित भूमि खसरा नम्बर 1788/ 4 रकवा 0.073 हे. स्थित है। जिसका सीमांकन के लिए तहसील न्यायालय में आवेदन दिया गया था। तहसीलदार ने एक टीम गठित करते हुए 20 मई 24 को इस भूखण्ड का सीमांकन भी हुआ था। सीमांकन के दौरान उनकी जमीन होने के बाद भी पंकज अग्रवाल पिता प्रयागदास अग्रवाल ने बाउण्ड्रीबॉल का निर्माण कार्य शुरू कर दिया था। जिसको लेकर अनुविभागीय अधिकारी छतरपुर के न्यायालय ने 24 जून 24 को एक आदेश पारित किया है कि जब तक संबंधित जांच रिपोर्ट न्यायालय में पेश नहीं होती है तब तक इस भूमि पर किसी भी प्रकार का निर्माण कार्य नहीं किया जा सकता है। इसके बावजूद भी बुन्देलखण्ड बस सर्विस परिवार के पंकज अग्रवाल ने निर्माण कार्य शुरू किया और पूर्व विधायक शंकर प्रताप सिंह मुन्ना राजा को बदनाम करने की साजिश भी रच डाली।
उस जमीन से मुझे नहीं कोई लेना देना-मुन्ना राजा-
जिले के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व विधायक शंकर प्रताप सिंह मुन्ना राजा बसारी ने जानकारी देते हुए बताया है कि सिविल लाईन थाने के सामने बगौता मौजा स्थित एक भूखण्ड मेरे रिश्तेदार अल्का सिंह की है। विगत में अल्का सिंह के आवेदन पर उनके भूखण्ड का सीमांकन भी हो चुका है। उस भूखण्ड पर क्या हो रहा है इसकी मुझे जानकारी भी नहीं है। इसके बावजूद भी बुन्देलखण्ड बस सर्विस परिवार के पंकज अग्रवाल और संटू अग्रवाल द्वारा मेरे ऊपर जबरन कब्जा करने के आरोप लगाते हुए बदनाम करने की कोशिश की गई है। जबकि पंकज अग्रवाल और संटू अग्रवाल इन दिनों शहर की शासकीय जमीनों से लेकर गरीब लोगों की जमीनों को हडऩे में लगे हुए है।
प्राईवेट जमीन पर जबरन कर रहे थे कब्जा-
पूर्व विधायक मुन्ना राजा बसारी ने यह भी जानकारी देते हुताया है कि विगत  में पंकज अग्रवाल और संटू अग्रवाल ने नौगांव रोड स्थित ओरछा रोड़ थाने के पास एक जमीन को खरीदा है। उसी जमीन पर प्लांटिंग कर लोगों को प्लांट बेेचने का काम किया जा रहा है। जबकि उस जमीन के लिए कहीं से भी सडक़ नहीं है। जब खरीद्दारों ने रास्ते को लेकर इनसे कहा तो एक भाईजान की प्राईवेट जमीन पर कब्जा करते हुए जेसीबी से सडक़ बनाने के लिए दस से पन्द्रह गाडिय़ों से पहुंच गए थे। जब जमीन मालिक ने मना किया तो संटू अग्रवाल विवाद करने लगे। विवाद की स्थिति को देखते हुए जमीन मालिक ने तत्काल पुलिस का सहारा लिया। मौके पर पहुंची पुलिस ने तत्काल काम को रूकवाया और मामले को शांत कराया था।
अग्रवाल परिवार ने दी सफाई-
इस पूरे मामले में जब बुन्देलखण्ड बस सर्विस परिवार के पंकज अग्रवाल से बात की गई तो उनका कहना था कि हमारी जमीन सिविल लाईन थाने के सामने बगौता मौजा में है। जिस पर हमारे द्वारा काम लगाया गया था। बाउण्ड्री निर्माण कार्य के दौरान शंकर प्रताप सिंह मुन्नाराजा बसारी के  पीए लखन दुबे पहुंचे और धमकी देते हुए निर्माण कार्य को बंद कराया था। पूरी तरह से यह लोग गुण्डागर्दी करते हुए हमारी जमीन पर कब्जा करना चाहते है।

--- इसे भी पढ़ें ---

Ads on article

Advertise in articles 1

advertising articles 2

Advertise under the article

-->