-->
पाए सभी खबरें अब WhatsApp पर Click Now

Below Post Ad

Image
 जीजा ने अपने दो सालों के साथ मिलकर दुष्कर्म करने के बाद की थी युवती की हत्या

जीजा ने अपने दो सालों के साथ मिलकर दुष्कर्म करने के बाद की थी युवती की हत्या

सनसनीखेज वारदात का पुलिस ने किया खुलासा, तीनों आरोपी गिरफ्तार
छतरपुर। चार दिन पूर्व जिले के गोयरा थाना क्षेत्र की एक पहाड़ी पर युवती की लाश मिली थी। पुलिस ने 4 दिनों तक विवेचना करने के बाद उक्त हत्याकांड को अंजाम देने वाले एक नाबालिग सहित तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। बताया गया है कि मुख्य आरोपी ने अपने दो सालों के साथ मिलकर पहले युवती के साथ दुष्कर्म किया और बाद में गला दबाकर उसकी हत्या कर दी थी। उक्त सनसनीखेज वारदात का शनिवार को पुलिस अधीक्षक अगम जैन ने जिला मुख्यालय पर पुलिस कंट्रोल रूप में खुलासा किया।
पुलिस अधीक्षक अगम जैन ने बताया कि गत 7 मई को ग्राम गोयरा की पहाड़ी पर एक युवती का शव मिला था। शव को कब्जे में लेकर पुलिस ने घटनास्थल का सुपरविजन किया और एफएसएल तथा तकनीकी टीम ने बारीकी से भौतिक एवं तकनीकी साक्ष्य एकत्रित किये। पुलिस को घटनास्थल पर मृतिका का मोबाइल फोन सहित कुछ अन्य सामग्री मिली थी। मृतिका की पोस्टमार्टम रिपोर्ट, साक्ष्यों और परिजनों के कथनों के आधार पर थाना गोयरा में दुष्कर्म एवं हत्या की विभिन्न धाराओं में अपराध पंजीबद्ध किया गया। पुलिस महानिरीक्षक छतरपुर रेंज ललित शाक्यवार ने आरोपियों की गिरफ्तारी पर 20 हजार के इनाम घो?षित किया और घटना की गंभीरता को देखते हुए थाना गोयरा, सरवई, लवकुशनगर और थाना हिनौता के पुलिस बल की सामूहिक टीम का गठन किया गया, जिसने 4 दिनों तक तफ्तीश करने के बाद घटना को अंजाम देने वाले तीनों आरोपियों को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है।
लड़की द्वारा विरोध किए जाने से नाराज होकर की गई थी हत्या-
एसपी श्री जैन ने बताया कि विवेचना के दौरान पुलिस टीम को ग्राम गुधौरा थाना लवकुशनगर निवासी राहुल शुक्ला पिता राजेन्द्र शुक्ला उम्र 26 वर्ष पर संदेह हुआ, जो कि वर्तमान में अपनी ससुराल गोयरा में रह रहा था। संदेह के आधार पर पुलिस ने राहुल शुक्ला को थाने बुलाकर पूछताछ की तो उसने जुर्म कबूल कर लिया और पुलिस को पूरी घटना बताई। मुख्य आरोपी राहुल शुक्ला (जीजा) ने बताया कि घटना दिनांक को वह अपने साले राहुल उर्फ छोटू पिता स्व. अनन्दी शुक्ला उम्र 19 वर्ष निवासी गोयरा और राहुल के 17 वर्षीय मौसेरे भाई के साथ पहाड़ी गांव की पहाड़ी पर गया था, जहां उसे मृतिका अकेली दिखाई दी। युवती को देखकर उसकी नियत खराब हो गई और इसके बाद वह अपने सालों के साथ मिलकर युवती को जबरन बकरियों वाले घर में ले गया, जहां उसके साथ जबरन दुष्कर्म किया गया। चूंकि युवती लगातार उसका विरोध कर रही थी इसलिए गुस्से में आकर राहुल ने उसका सिर दीवाल में मारा और फिर गला दबाकर उसकी हत्या कर दी। हत्या के बाद शव को पहाडिय़ों की एक झाड़ी के पास छोड़कर तीनों आरोपियों ने सब्बल (लोहे की रॉड) से दीवार में लगे खून के दाग मिटाए और फिर वहां से भाग गए। पुलिस ने तीनों आरोपियों को गिरफ्तार करने के साथ-साथ दीवाल से खून के निशान मिटाने में प्रयुक्त सब्बल को भी बरामद किया है। नाबालिग आरोपी को बाल न्यायालय पेश कर बाल सुधार ग्रह एवं मुख्य आरोपी राहुल शुक्ला तथा सह आरोपी छोटू शुक्ला को जेल भेज दिया गया है।
इनकी रही सराहनीय भूमिका-
उक्त कार्यवाही में गायेरा थाना प्रभारी दीपक यादव, अक्टौंहा चौकी प्रभारी प्रथा दुबे, सरवई थाना प्रभारी अतुल झा, हिनौता थाना प्रभारी राजकुमार यादव, साईबर सेल प्रभारी संदीप खरे के अलावा गोयरा थाना के प्रधान आरक्षक ब्रजेश यादव, राजेन्द्र रावत, भूपेन्द्र अहिरवार, महेन्द्र भदौरिया, आरक्षक अरविन्द यादव, रविन्द्र राजपूत, संजीव  जाटव, दीपेश कुर्मा, रविशंकर शुक्ला, वृषभान यादव, थाना सरवई के राम प्रताप, अतुल दीक्षित, हफीज खान, रोहित घोषी, थाना हिनोता के कमलेन्द्र सिंह, महिला आरक्षक रेखा सिंह, प्रधान आरक्षक मलखान सिंह की सराहनीय भूमिका रही।

--- इसे भी पढ़ें ---

Ads on article

Advertise in articles 1

advertising articles 2

Advertise under the article

-->