-->
पाए सभी खबरें अब WhatsApp पर Click Now

Below Post Ad

Image
FIR दर्ज बदनाम और कलंकित होता बाबा का आभा मंडल!

FIR दर्ज बदनाम और कलंकित होता बाबा का आभा मंडल!

 


शर्मनाक! बागेश्वर बाबा के भाई की गुण्डागर्दी का नग्न तांडव: टोल प्लाजा कर्मियों को दौड़ा दौड़ा कर पीटा, 

छतरपुर। बागेश्वर धाम के बाबा धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री के छोटे भाई शालिगराम गर्ग ने फिर गुंडई की है । बीती रात मुंगवारी टोल प्लाजा में कर्मचारियों के साथ मारपीट कर गुण्डागर्दी का नग्न तांडव किया । पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री के भाई सौरव गर्ग उर्फ शालिग्राम शास्त्री ने छतरपुर में टोलकर्मियों से मारपीट की। टोल मांगने पर उसने अपने सहयोगियों के साथ हमला किया। पुलिस ने शालिग्राम शास्त्री समेत 10 के खिलाफ केस दर्ज किया है।
बाबा के भाई सहित उसके दस साथियों के खिलाफ गुलगंज थाने में गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज  हुआ है जबकि बाबा का भाई और उसके साथी अभी फरार हैं । इसके पहले भी बाबा का यह भाई गढ़ा गांव में एक दलित परिवार की बच्ची की शादी के दौरान फायरिंग कर उत्पात मचा चुका है, जो मामला न्यायालय में विचाराधीन है।
कितना शर्मनाक है कि एक ओर जहाँ बागेश्वर बाबा धीरेन्द्र शास्त्री धर्म की रक्षा का ठेकेदार बन कथाओं के जरिए ज्ञान बांट रहे है और समाज सुधार का दम भरते है। वहीं बाबा अपने सगे भाई को तक सुधार नहीं पा रहे है, उसे ज्ञान नहीं दे पा रहे  है। जबकि उसके भाई के अधार्मिक कृत्य और उद्दण्डता बढ़ती ही जा रही है। जिससे बाबा का आभा मंडल बदनाम और कलंकित होता है।
पिछली बार की तरह बाबा बदनामी से बचने फिर कह सकते है कि मैं अपने भाई के किसी आपराधिक कृत्य को प्रश्रय नहीं देता,कानून अपना आप करे । बाबा जी कानून तो अपना काम करेगा ही। लेकिन एक बात का जवाब आपको देना पड़ेगा कि फिर अपने भाई को अपने साथ सारथी और व्यवस्थापक की तरह आप क्यों रखते हैं? वह आपके अर्जित संसाधनों और नाम का खुला उपयोग क्यों करता है? स्पष्ट है कि बाबा का भाई उसके संरक्षण में ही आपराधिक कृत्य और उद्दण्डता करता है? जिससे बाबा को अपयश का भागीदार बनना पड़ता है। यह फोटो इस बात का सबूत है कि अपने भाई को अपने साथ सदा धार्मिक वेश में सहायक की भांति रखता है।

--- इसे भी पढ़ें ---

Ads on article

Advertise in articles 1

advertising articles 2

Advertise under the article

-->