-->
पाए सभी खबरें अब WhatsApp पर Click Now

Below Post Ad

Image
शिक्षा के नाम पर छात्राओं को लूटने में लगी स्मार्ट वेल्यू कंपनी

शिक्षा के नाम पर छात्राओं को लूटने में लगी स्मार्ट वेल्यू कंपनी

 


पीडि़त छात्रा ने कोतवाली सहित पुलिस अधीक्षक से की न्याय की मांग
किशोर सागर तालाब स्थित डॉ. केके चतुर्वेदी के मकान में संचालित हो रही  कंपनी

छतरपुर। कोतवाली थाना क्षेत्र के अंतर्गत किशोर सागर तालाब के पास डॉ. केके चतुर्वेदी के मकान में एक स्मार्ट वेल्यू लिमिटेड कंपनी छतरपुर का संचालन हो रहा है। इस कंपनी का संचालन किसी सुरेन्द्र यादव नाम के व्यक्ति द्वारा किया जा रहा है। हालांकि विगत वर्ष पहले लवकुशनगर में इसी प्रकार की कंपनी के ऊपर कार्रवाई हुई थी। वहां की कार्रवाई होने के बाद से इस कंपनी का संचालन छतरपुर शहर में होने लगा था। तब से आज तक इस स्मार्ट वेल्यू लिमिटेड कंपनी का संचालन अभी भी हो रहा है। इस कंपनी के कर्मचारियों के द्वारा पहले छात्र-छात्राओं को अपनी मीठी-मीठी बातों में फंसाया जाता है और फिर प्रवेश दिलाने के नाम पर भारीभरकम रकम वसूल की जाती है। छात्र-छात्राओं को गुमराह करने के लिए ऑनलाईन रसीद भी थमाई जाती है। जब छात्र-छात्राएं  ट्यूशन के टाईम पर पहुंचती है तो कंपनी के ऑफिस में कोई नहीं मिलता है और जो मिलता है उसके द्वारा सप्ताह में दो दिन खुलने का हवाला दिया जाता है। कई वर्षो से संचालित स्मार्ट वेल्यू कंपनी के मालिक ने हजारों से भी अधिक छात्र-छात्राओं को अपना शिकार बनाया है। हालांकि पुलिस के अनुसार किसी लड़की के मामले में कथित कंपनी का मालिक फरार चल रहा है।
डॉ. केके चतुर्वेदी के मकान में बनाया अड्डा
विगत कई वर्ष पहले इसी प्रकार की एक कंपनी का संचालत लवकुशनगर में हुआ करता था। कई शिकायतों के बाद प्रशासन ने इस कंपनी पर छापामार कार्रवाई की थी। तब यह कंपनी का मालिक फरार हो गया था। उसके बाद कथित कंपनी का मालिक सुरेन्द्र यादव ने इस कंपनी का संचालन कई वर्ष पहले किशोर सागर तालाब के पास डॉ. केके चतुर्वेदी के मकान में अपना अड्डा बना लिया था। तब से आज तक स्मार्ट वेल्यू कंपनी का अड्डा वहीं बना हुआ है। वर्तमान में जब वहां जाकर देखा गया तो इस कंपनी का कुछ भी वहां दिखाई नहीं दिया है। हालांकि वहां पर मौजूद लोगों ने बताया कि लगभग एक सप्ताह से इस ऑफिस में कोई नहीं आ रहा है। लेकिन यह पता है कि सुरेन्द्र यादव नाम के युवक के द्वारा शिक्षा को लेकर इस ऑफिस का संचालन किया जा रहा है।
छात्र- छात्राओं के साथ करता है धोखाधड़ी
धोखाधड़ी की शिकार बेनीगंज मोहल्ला निवासी रोहिणी कुशवाहा ने 16 अप्रैल 24 को कोतवाली सहित पुलिस अधीक्षक को एक शिकायती पत्र दिया है। जिसमें लेख है कि मैने कक्षा 12 वीं की परीक्षा अच्छे अंकों से पास की थी। जिससे मुझे 25 हजार रूपए शासन द्वारा छात्रवृत्ति के रूप में मिले थे। इसी बीच स्मार्ट वेल्यू लिमिटेड छतरपुर के कर्मचारी मुकेश प्रजापति जिसका मोबाईल नम्बर 7400831996 एवं श्री कुशवाहा तथा पुष्पा ठाकुर मो. 8815559171 एवं रचना कुशवाहा ब्रांच की प्रमुख अंजिल सिंह परमार मो. 8461834310 के कहने पर मेरे घर आए थे। कहने लगे की स्मार्ट वेल्यू हमारी संस्था है जिसमें कम्प्यूटर सीखने के लिए प्रवेश ले लो और हमारी  संस्था से मिलने वाले डिप्लोमा के अनुसार तत्काल शासकीय नौकरी मिल जाती है। अगर आप संस्था में अध्यापन नहीं करती है तो 45 दिन मेें आपके रूपए बापिस कर दिए जायेगे। इस प्रकार की मीठी-मीठी बातों में आकर 18099 रूपए प्रवेश के नाम पर 9 मार्च 24 को जमा कर दिये। जब मैं संस्था में अध्यापन के लिए गई तो पता चला कि सप्ताह में कुल दो दिन ही यह संस्था खुलती है। इसके बाद जब रूपयों को बापिस मांगा गया तो उनके द्वारा रूपए बापिस नहीं करने का हवाला दिया जाने लगा। इस प्रकार से हजारों छात्र-छात्राएं इस संस्था में धोखाधड़ी की शिकार हो चुकीं है। पुलिस अधीक्षक से रूपए बापिस दिलाने जाने एवं कठोर कार्रवाई किए जाने का आग्रह छात्र ने किया है।
मकान मालिक पर भी होना चाहिए कार्रवाई
शासन की गाईडलाईन के अनुसार किराएदार से पूरा लेखाजोखा के साथ-साथ पूरी सर्ते भी लेख होना चाहिए और संबंधित थाने को भी सूचित करना चाहिए। जिस किसी व्यक्ति के द्वारा किराए पर लिए मकान में कोई अनैतिक कार्य किया जा रहा हो तो उसकी सूचना तत्काल मकान मालिक को संबंधित पुलिस थाना को देना चाहिए। अनैतिक कार्य में किराएदार सहित मकान मालिक भी दोषी माना जाता है। लेकिन किशोर सागर स्थित डॉ. केके चतुर्वेदी के मकान में कथित सुरेन्द्र यादव द्वारा स्मार्ट वेल्यूे लिमिटेड का संचालन किया जाता है। इस कंपनी के कार्यालय में लोगों के साथ धोखाधड़ी का काम किया जा रहा है। लोगों के द्वारा शिकायतें भी दर्ज कराई जा रही हैं। इसके बाद भी मकान मालिक के द्वारा अपने मकान से यह धोखाधड़ी का काम होने दिया जा रहा है। हालांकि मकान मालिक को तत्काल मकान खाली कराने के साथ-साथ इस प्रकार की जानकारी संबंधित पुलिस थाना को भी देना चाहिए। किराएदार कथित सुरेन्द्र यादव स्मार्ट वेल्यू कंपनी और मकान मालिक डॉ. केके चतुर्वेदी पर भी कार्रवाई होना चाहिए।
इनका कहना है
लम्बे समय से किशोर सागर तालाब के पास एक कंपनी संचालित हो रही है। जो चिटफड टाईप की कंपनी बताई जा रही है। धोखाधड़ी की शिकार हुई छात्रा ने शिकायत दर्ज कराई है। जिसकी जांच कराई जा रही है। जांच उपरांत ही आगे की कार्रवाई की जायेगी।
अरविन्द्र कुजूर, टीआई, कोतवाली, छतरपुर

--- इसे भी पढ़ें ---

Ads on article

Advertise in articles 1

advertising articles 2

Advertise under the article

-->