-->
पाए सभी खबरें अब WhatsApp पर Click Now

Below Post Ad

Image
अवैध संगीन व्यापार और शहर की गलीकूचों में बिक रही अवैध शराब बनी पुलिस के लिए चुनौती

अवैध संगीन व्यापार और शहर की गलीकूचों में बिक रही अवैध शराब बनी पुलिस के लिए चुनौती


छतरपुर। विगत कुछ माहों से जिले में अवैध कारोबार रूकने का नाम नहीं ले रहा है। जिले सहित शहर की गली कूचों में अवैध शराब को परोसा जाता है। शहर के कई स्थानों पर अवैध संगीन व्यापार भी फलफूल रहा है। इन सभी कारोबारों को रोकने के लिए नवागत पुलिस अधीक्षक को चुनौती से कम नहीं है। क्योंकि इन सभी कारोबारियों के हाथ बहुत लम्बे बताए जा रहे हैं। इसी प्रकार के अवैध संगीन व्यापार संभवत: शहर के सिविल लाईन थाना क्षेत्र मॉडल बेसिक स्कूल गठेवरा वायीपास और देरी रोड़ स्थित महर्षि विद्यामंदिर स्कूल के सामने और सटई रोड़ मंडी के पास भी होने की संभावना जताई जा रही हैं। संभवत: इसी संगीन व्यापार को लेकर कोतवाली थाना क्षेत्र अंतर्गत विश्वनाथ कॉलोनी नौगांव रोड़ पर विगत दिनों पहले की दरम्यानी रात को गोली लगने से एक नाबालिग बच्ची घायल हुई है। इस मामले में पुलिस ने दो लोगों को आरोपी बनाया है। इसी प्रकार शहर की गली कूचों में अवैध शराब को परोसा जाता है। पुलिस प्रशासन के लिए यह अवैध कारोबार चुनौती पूर्ण बने हुए है। जबकि विगत कुछ दिनों पहले लोक सभा चुनाव को लेकर देश सहित प्रदेश और जिले में आदर्श आचार संहिता लागू है। इसके बावजूद भी पुलिस प्रशासन केवल शहर के मुख्य मार्गो पर पैदल मार्च निकालने में लगी हुई है और शहर में यह कारोबार बड़े आराम से फलफूल रहें हैं।
खुलेआम चल रहे अवैध संगीन कारोबार-
विगत कई वर्षो से शहर में संगीन कारोबार चल रहें हैं। यह कारोबार शहर के सिविल लाईन थाना क्षेत्र अंतर्गत सबसे अधिक फलफूल रहे हैं। पूरे शहर को इनके स्थान भी मालूम है जहां यह संगीन कारोबार चल रहे हैं। पन्ना रोड़, सटई रोड सहित देरी रोड़ पर सबसे अधिक यह कारोबार संभवत: चलते है। सूत्र तो यह भी बता रहे है कि पुलिस की मिलीभगत से यह संगीन कारोबार चल रहे हैं। इसी प्रकार शहर की गली कूचों में अवैध शराब को परोसा जाता है। जहां तक की शराब तस्कर इतने बेखौफ है कि हॉम डिलेवरी करने में भी पीछे नहीं रहते हैं। आरोप यह भी है कि अवैध कारोबारों के सहयोग में पुलिस प्रशासन के कुछ प्राईवेट लड़के लगे हुए है। जिस थाने के संबंधित यह कारोबार चलते है वहां उस थाने के एक पुलिस वाले की निगरानी रहती है। अगर वरिष्ठ पुलिस का कोई अधिकारी कार्रवाई करने की योजना बनाता है तो इस अवैध कारोबारियों के पास कार्रवाई होने की सूचना पहुंच जाती है। इसलिए इन अवैध कारोबारियों पर कार्रवाई नहीं हो पाती है।
विश्वनाथ कॉलोनी गोलीकाण्ड बनी चर्चा का विषय-
विगत दिन पहले कोतवाली थाना क्षेत्र अंतर्गत विश्वनाथ कॉलोनी स्थित संतोषी तिवारी के मकान में गोली चलने का मामला प्रकाश में आया है। इस मामले में बड़ामलहरा निवासी मंजू पटैरिया और एक अन्य पर 307 का मामला दर्ज हुआ है। क्योंकि गोली कानपुर यूपी निवासी एक नाबालिग बच्ची भूमि शुक्ला के पैर में लगी थी। अस्पताल में भर्ती भूमि शुक्ला ने जानकारी देते हुए बताया कि मै नानी संतोषी तिवारी के यहां जन्मदिन पार्टी में शामिल होने आई थी। जब मैं घर के अंदर एक कमरे में चंद्रशेखर के साथ खाना खा रही थी उसी दौरान एक युवक ने जबरन गेट खुलवाए और अपने साथ मुझे ले जाने की जिद करने लगा जब इसका विरोध किया तो उसने अवैध हथियार से पैर में गोली मार दी। मामला कुछ भी हो पुलिस ने हत्या के प्रयास का मामला दर्ज करते हुए जांच शुरू कर दी है।
खुलेआम अपराधी दे रहे घटनाओं को अंजाम-
जानकारी के अनुसार विगत दो माह से अपराधियों के हौसले बुलंद बने हुए है। दो माह में शहर गोलियों की गडग़ड़ाहट से गूंज रहा है। जिससे आम नागरिक काफी दहशत में बना हुआ है। जिला बदर किए गए अपराधी भी शहर में बेपरवाह घूम रहे हैं। इसके बावजूद भी पुलिस प्रशासन पूरी तरह से अंजान बनी हुई है। लोकसभा चुनाव की आदर्श आचार सहित लागू होने के बाद भी शहर में गोलियां बरस रहीं है और बेगुनाह इन अपराधियों के शिकार हो रहे हैं।
जिले में अवैध शराब बनी मुसीबत-
जानकारी के अनुसार जिले में इन दिनों लोकसभा चुनाव होने जा रहा है। चुनाव की आदर्श आचार संहिता पूरे जिले में लागू है। इसके बाद भी पूरे जिले में अवैध शराब गली कूचों में परोसी जाती है। जिले के अधिकतम ढावों पर शराब बिक्री जारी है। साथ ही शहर के चारों ओर संचालित ढाबों पर अवैध शराब परोसी जाती है। जबकि जब भी कोई चुनाव होता है और चुनाव की आदर्श आचार संहिता लागू होती है तब अवैध शराब सहित अपराधिक प्रवृत्ती के लोगों पर कार्रवाई होना शुरू हो जाती है। हालांकि पुलिस प्रशासन के द्वारा कार्रवाईयां तो की जाती हंै लेकिन इन कारोबारियों में पुलिस की तनक भी भय नहीं है। कार्रवाई होने के चंद दिनों बाद कारोबार जस का तस चलने लगते हैं। हालांकि जिलेवासियों द्वारा कयास लगाए जा रहे है कि नवागत पुलिस अधीक्षक अगम जैन द्वारा जिले की शांति व्यवस्था को लेकर कठोर कदम उठाएं जा सकते हैं।
इनका कहना है-
विश्वनाथ कॉलोनी में हुए गोलीकाण्ड को लेकर नये एसपी साहब ने सभी एस प्रकार के अवैध धंधों पर कार्रवाई करने के निर्देश दिए है। पुलिस इस प्रकार के कारोबार पर कार्रवाई करने के लिए निगरानी बनाए हुए है।
अमन मिश्रा, सीएसपी, छतरपुर

--- इसे भी पढ़ें ---

Ads on article

Advertise in articles 1

advertising articles 2

Advertise under the article

-->