-->
पाए सभी खबरें अब WhatsApp पर Click Now

Below Post Ad

Image
बिना श्रम विभाग में पंजीयन कराये हरपालपुर रेक प्वांट पर मजदूरों से कराया जा रहा काम

बिना श्रम विभाग में पंजीयन कराये हरपालपुर रेक प्वांट पर मजदूरों से कराया जा रहा काम

 


गणेश रोडलाइंस ठेकेदार रितेश मित्तल का कारनामा

 बिना श्रम विभाग में पंजीयन कराये हरपालपुर रेक प्वांट पर मजदूरों से कराया जा रहा काम 

 भाजपा सरकार में ठेकेदार पर नहीं है अंकुश, कलेक्टर के मंसूबो पर फेर रहा पानी ठेकेदार रितेश मित्तल 

ठेकेदार की लापरवाही से लाखों का वारदाना पानी में भींगा, अब वेयर हाउस एवं नागरिक आपूर्ति निगम व खाद्य विभाग के अधिकारियों से सेटिंग कर गीले बोरों को गोदामों में किया जा रहा जमा 


छतरपुर। भाजपा सरकार में गणेश रोडलाइंस ठेकेदार रितेश मित्तल अपनी मनमानी पर उतारु है जिसके चलते सरकार को लाखों रुपये का चूना लग रहा है। इतना ही नहीं छतरपुर जिले में गणेश रोडलाइंस ठेकेदार कलेक्टर संदीप जीआर के मंसूबों पर भी पानी फेरता नजर आ रहा है। ठेकेदार रितेश मित्तल की मनमानी के चलते बिना श्रम विभाग में मजदूरों का पंजीयन कराये हरपालपुर रेक प्वांट पर काम कराया जा रहा है।


वहीं ठेकेदार की लापरवाही के चलते हरपलापुर रेक प्वांट पर रखा वारदाना भी पानी में गीला हो गया जिससे कारण से विभाग को अत्यअधिक नुकसान होगा। सूत्रों की माने तो रेक से जो वारदाना आया है उसमें सागर और दमोह का वारदाना है जो कि सागर में लिधौरा रेक प्वांट पर उतारा जाना था लेकिन ठेकेदार ने अधिक लाभ कमान और विभाग को छति पहुंचोन के लिए इस वारदाने को हरपालपुर रेक प्वांट पर ही उतरवा दिया गया। जिससे विभाग को अधिक क्षति होगी।


ठेकेदार की पोल खुलते ही ठेकेदार ने वेहर हाउस एवं नागरिक अपूर्ति निगम व खाद्य विभाग के अधिकारियों से सेटिंग कर  गीले वारदाने को गोदामों में रखवाया जा रहा है। बताते चले कि गीला वारदाना अगर गोदामों में रख दिया गया तो कुछ समय के बाद यह बोरों का वारदान सड़ जायेगा जिससे विभाग को अत्याधिक हानि होगी। सूत्रों की माने तो हरपालपुर रेक प्वांट पर रखा लाखों का वारदाना गीला हुआ है लेकिन जिले के कुछ भ्रष्ट अधिकारी से ठेकेदार ने सेंटिंग कर ली जिसके चलते वह भ्रष्ट अधिकारी अपने वरिष्ठ अधिकारियों को भी गलत जानकारी देकर गुमराह कर रहे है। अगर इस मामले की जिले के कुछ भ्रष्ट अधिकारियों को छोडक़र अन्य अधिकारियों से इसके जांच कराई जाये तो पूरा मामला सामने आ जाएगा। फिलहाल ठेकेदार अपनी ऊंची पहुंच के चलते छतरपुर जिले के सभी अधिकारियों से इस समय सेंटिंग जमाये हुए है। अब देखना यह है कि इस मामले में गणेश रोडलाइंस ठेकेदार हर बार की तहर इस बार भी बच निकलेगा या फिर अधिकारियों के द्वारा कोई बड़ी कार्यवाही की जाएगी।

--- इसे भी पढ़ें ---

Ads on article

Advertise in articles 1

advertising articles 2

Advertise under the article

-->