-->
पाए सभी खबरें अब WhatsApp पर Click Now

Below Post Ad

Image
आधुनिक तकनीकि से आरोपी तक पहुंची पुलिस बिंदुअन पुरवा हत्याकांड का पुलिस ने किया खुलासा

आधुनिक तकनीकि से आरोपी तक पहुंची पुलिस बिंदुअन पुरवा हत्याकांड का पुलिस ने किया खुलासा

 


छतरपुर। दो दिन पहले जुझारनगर थाना क्षेत्र में एक युवक की उसकी शादी से तीन दिन पहले हत्या हुई थी, उक्त मामले का शनिवार को पुलिस ने खुलासा कर दिया है। बताया गया है कि युवक की हत्या उसकी होने वाली पत्नी के आशिक ने गोली मारकर की थी, हत्यारोपी एकतरफा प्यार में पागल था और शादी रोकने के मकसद से उसने घटना को अंजाम दिया था। पुलिस ने आधुनिक तकनीकि की मदद से हत्या के बाद करीब 24 घंटे में ही आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।
शनिवार को पुलिस कॉन्फ्रेंस हॉल में आयोजित पत्रकारवार्ता में पुलिस अधीक्षक अमित सांघी ने बताया कि 29 फरवरी को बिंदुवन पुरवा गांव के निकट कालूराम पुरवा के दरिया वाले खेत में 21 वर्षीय इंद्रपाल उर्फ गुल्लू अहिरवार का शव मिला था। मृतक की पीएम रिपोर्ट में गोली लगने के कारण मौत होने की बात सामने आई थी, जिसके बाद पुलिस ने अज्ञात के विरुद्ध धारा 302 भारतीय दंड विधान एवं 25/27 आम्र्स एक्ट का प्रकरण पंजीबद्ध किया। मामले की विवेचना के लिए एक विशेष टीम का गठन किया, जिसने पड़ताल के दौरान गांव और रिश्तेदारी में बुराई की जानकारी एकत्रित की। इसी बीच एफएसएल टीम के भौतिक निरीक्षण एवं आधुनिक तकनीकी के माध्यम से मिले कुछ साक्ष्यों से ग्राम मनिया थाना चंदला के एक युवक पर पुलिस को संदेह हुआ। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक विक्रम सिंह एवं एसडीओपी लवकुशनगर नवीन दुबे के मार्गदर्शन में जुझारनगर थाना प्रभारी राजेंद्र सिंह के नेतृत्व में पुलिस टीम ने ग्राम मनिया पहुंचकर संदेही को अभिरक्षा में लेकर आधुनिक एवं साइंटिफिक तकनीकि से पूछताछ की तो उसने हत्या का जुर्म कबूल कर लिया। आरोपी के कब्जे से पुलिस ने घटना में प्रयुक्त मोटरसाईकिल, देशी तमंचा और मृतक का मोबाइल बरामद कर लिया है।
मृतक की होने वाली पत्नी से एक तरफा प्रेम करता है आरोपी-
पकड़े गए 20 वर्षीय आरोपी ने पूछताछ में बताया कि जिस लड़की से इंद्रपाल उर्फ गुल्लू अहिरवार का विवाह होने वाला था, वह उस लड़की से एक तरफा प्रेम करता था। उसने लड़की के परिजनों को किसी और से विवाह करने के लिए रोका था लेकिन वे नहीं माने जिसके बाद उसने सोशल मीडिया की मदद से इंद्रपाल अहिरवार का मोबाइल नंबर ढूंढ़कर उससे संपर्क किया और मिलने के लिए बुलाया। 28 फरवरी को आरोपी 315 बोर का देशी तमंचा लेकर अपनी मोटरसाइकिल एचएफ डीलक्स एमपी 16 एमडब्लू 6773 से मृतक के गांव के पास कालूराम पुरवा डाडिया वाले खेत पर पहुंचा। पहले उसने इंद्रपाल के ऊपर शादी न करने का दबाव बनाया लेकिन जब वह नहीं माना तो उसने इंद्रपाल को गोली मार दी, जिससे उसकी मौत हो गई। घटना को अंजाम देने के बाद आरोपी ने मृतक के मोबाइल से सिम निकाल कर फेक दी और फिर भाग गया। आरोपी को न्यायालय में पेश करने के बाद जेल भेज दिया गया है। इस कार्यवाही में जुझारनगर थाना प्रभारी उप निरीक्षक राजेंद्र सिंह जाटव सहित उनके स्टाफ, एफएसएल टीम और साइबर टीम की मुख्य भूमिका रही।

--- इसे भी पढ़ें ---

Ads on article

Advertise in articles 1

advertising articles 2

Advertise under the article

-->