-->
पाए सभी खबरें अब WhatsApp पर Click Now

Below Post Ad

Image
 अमृत भारत योजना से रेल्वे स्टेशन पर हो रहा घटिया निर्माण पिलर के फाउंडेशन व फर्श में आई दरारें

अमृत भारत योजना से रेल्वे स्टेशन पर हो रहा घटिया निर्माण पिलर के फाउंडेशन व फर्श में आई दरारें


हरपालपुर। बीते माह 26 तारीख़ देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने  वर्चुअल रुप से  हरपालपुर स्टेशन के पुनर्विकास हेतु अमृत भारत योजना से से शिलान्यास व लोकापर्ण किया था लेकिन शिलान्यास के दस दिन बाद ठेकेदार के निर्माण की कलई खुल गई। बीते रोज हुई बारिश में घटिया निर्माण की तस्वीर सामने आ गई। स्टेशन के मुख्य द्वार पर बनाये जा रहे पिलर के फाउंडेशन में दरारें आ गई। वहीं सरकुलेटिंग एरिया में डाले गए फर्श में भी दरारें आ गई।
रेलवे स्टेशन के सौंदर्यीकरण में घटिया सामग्री का इस्तेमाल हो रहा है ठेकेदार और अधिकारियों की मिलीभगत से स्टेशन पर कराए जा रहे निर्माण कार्य भ्रष्टाचार की भेट चढ़ा रहा है। वहीं रेलवे ठेकेदार द्वारा हरपालपुर स्टेशन में कराए जा रहे निर्माण कार्य में धांधली और मनमानी का खेल जमकर चल रहा है। ठेकेदार और रेलवे अधिकारियों की मिलीभगत से मनमाने ढंग से निर्माण सामग्री में घटिया सामग्री एवं घटिया ईटों का उपयोग किया जा रहा है। ईंटो का कलर देख ही लगता है वो कितनी घटिया है इन ईंटो में पैर मारने पर टूट रही हैं। इससे जहां निर्माण की गुणवत्ता प्रभावित हो रही है। वहीं रेलवे के अधिकारियों को इस बात की जानकारी होने के बाद भी जिम्मेदार इस गम्भीरता से नहीं ले रहे है।
बताते चले कि  रेलवे स्टेशन  के सरकुलेटिंग एरिया में वाहन पार्किंग के पास चल रहे निर्माण कार्य जोकि झाँसी के एक ठेकेदार द्वारा करवाया जा रहा है। स्थानीय लोगों द्वारा मीडिया को सूचना दी गई मौके पर निर्माण कार्य में प्रयुक्त पुरानी ईट के साथ घटिया सामग्री उपयोग में पाई गई। वहीं दूसरी ओर नाली निर्माण कार्य में दोयम दर्जे की घटिया किस्म की ईट का प्रयोग किया जा रहा है साथ ही आरसीसी में उपयोग किए जा रहे मसाले में सीमेंन्ट के सापेक्ष रेत का अनुपात काफी ज्यादा है। वहीं ठेकेदार द्वारा पुरानी ईटों और आसपास के मलबे तथा पत्थरों को बिछाकर ऊपर से ज्यादा रेत में सीमेन्ट में मिलाकर डाली गई फर्श में जगह-जगह दरारें आ गई हैं।
उल्लेखनीय है कि मोदी सरकार की अमृत भारत स्टेशन योजना के तहत पिछले कुछ महीनों से हरपालपुर स्टेशन पर लगभग 11 करोड़ की लागत से सौन्दर्यकरण एवं नवीनीकरण का काम चल रहा है। इसमें घटिया स्तर की सामग्री को उपयोग में लाने का काम किया जा रहा है। यहां सारा काम अधिकारियों की मिलीभगत से किया जा रहा है।  
इस संबंध में जल्द ही नगर के जागरूक लोग झाँसी जाकर रेलवे के वरिष्ठ अधिकारियों को शिकायती पत्र सौपेगें और रेलवे स्टेशन पर हो रहे सभी निर्माण कार्यों की जांच की मांग करेंगे।
इनका कहना-
समय समय पर स्टेशन पर चल रहे निर्माण कार्यों का निरीक्षण किया जाता है। आप के द्वारा जानकारी लगी जल्द टीम भेजकर जांच करवाते हैं।
 देवेंद्र प्रसाद, एडीइएन झाँसी रेल मंडल

--- इसे भी पढ़ें ---

Ads on article

Advertise in articles 1

advertising articles 2

Advertise under the article

-->