-->
पाए सभी खबरें अब WhatsApp पर Click Now

Below Post Ad

Image
 बसपा नेता महेन्द्र गुप्ता की हत्या से समर्थकों में भारी नाराजगी

बसपा नेता महेन्द्र गुप्ता की हत्या से समर्थकों में भारी नाराजगी


छतरपुर और ईशानगर में परिजनों और समर्थकों ने किया चक्काजाम,थाने में घुसी महिलाएं, हत्यारे की तलाश में जुटी पुलिस


छतरपुर। सोमवार की रात करीब 9 बजे शहर के सिविल लाइन थाना क्षेत्र अंतर्गत सागर रोड पर एक विवाहघर में चल रहे समारोह में शामिल होने पहुंचे बसपा नेता एवं ईशानगर ग्राम पंचायत के पूर्व सरपंच महेन्द्र गुप्ता को पहले से घात लगाए बैठे अज्ञात व्यक्ति ने गोली मार दी थी, जिससे महेन्द्र गुप्ता की मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गई थी। घटना को अंजाम देने के बाद आरोपी तुरंत फरार हो गया था। बसपा नेता की हत्या के बाद मंगलवार को उनके समर्थकों में भारी नाराजगी देखने को मिली। जिला छतरपुर और ईशानगर में चक्काजाम तथा थाने का घेराव भी समर्थकों और परिजनों ने किया। ईशानगर की कुछ महिलाओं ने थाने में घुसकर जमकर नारेबाजी की। वहीं दूसरी ओर पुलिस सरगर्मी से हत्यारे की तलाश में जुटी हुई है।
इस तरह हुई महेन्द्र गुप्ता की हत्या-
प्राप्त जानकारी के मुताबिक बसपा नेता एवं ईशानगर ग्राम पंचायत के पूर्व सरपंच महेन्द्र गुप्ता सोमवार की रात को सागर रोड पर स्थित गजराज पैलेस में चल रहे एक वैवाहिक समारोह में शामिल होने के लिए पहुंचे थे। समारोह में शामिल होने के बाद जब वे वापिस जाने के लिए अपने वाहन की ओर जा रहे थे तभी पहले से घात लगाए बैठे अज्ञात शख्स ने उन पर ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी। एक गोली सीधे महेन्द्र गुप्ता के सिर के ऊपरी हिस्से में लगी, जिससे उनक सिर क्षत-विक्षत हो गया और मौके पर ही उनकी दर्दनाक मौत हो गई।

 


 चूंकि घटना स्थल पर काफी भीड़भाड़ थी इसलिए अचानक हुई फायरिंग से अफरा-तफरी का माहौल निर्मित हो गया और भगदड़ मच गई, जिस कारण से हत्यारे को भागने का मौका मिला गया। भगदड़ में कोई भी व्य?क्ति हत्यारे को देख नहीं पाया। जैसे ही इस सनसनीखेज हत्या की खबर पुलिस को मिली वैसे ही पुलिस अधीक्षक अमित सांघी, एएसपी विक्रम सिंह, सीएसपी अमन मिश्रा और सिविल लाइन थाना प्रभारी कमलेश साहू भारी पुलिसबल के साथ मौके पर पहुंच गए। शव को घटना स्थल से उठाकर जिला अस्पताल लाया गया है। साथ ही पुलिस अधीक्षक ने अपने महकमे को आवश्यक दिशा-निर्देश देकर हत्यारे को पकडऩे के लिए रवाना किया। शहर के सिविल लाइन थाना में अज्ञात के विरुद्ध हत्या का अपराध पंजीबद्ध किया गया है। उल्लेखनीय है कि महेन्द्र गुप्ता बसपा के दिग्गज नेता हैं। विगत विधानसभा चुनाव में बहुजन समाज पार्टी के टिकिट पर वे बिजावर विधानसभा से चुनाव लड़े थे। इसके अतिरिक्त पर्वू में वे ईशानगर ग्राम पंचायत के सरपंच भी रहे हैं।
पोस्टमार्टम के बाद छतरपुर और ईशानगर में चक्काजाम- 

मंगलवार की सुबह जिला अस्पताल में दिवंगत बसपा नेता महेन्द्र गुप्ता का उनके परिजनों, समर्थकों, समाज के लोगों और पुलिस की मौजूदगी में पोस्टमार्टम किया गया। पोस्टमार्टम के उपरांत उनके समर्थकों, बसपा नेताओं और परिजनों ने शहर के छत्रसाल चौक पर नारेबाजी करते हुए चक्काजाम कर दिया। प्रदर्शन कर रहे समर्थकों की मांग थी कि हत्या को अंजाम देने वाले आरोपियों को जल्द से जल्द पकड़कर उनके विरुद्ध सख्त से सख्त कार्यवाही की जाए। हंगामे की खबर लगते ही मौके पर पहुंचे पुलिस और प्रशासन के अधिकारियों ने अब तक किए गए प्रयासों की जानकारी देकर यह विश्वास दिलाया कि जल्द ही आरोपी पकड़ लिए जाएंगे, तब प्रदर्शनकारी शांति हुए। इसके बाद जब महेन्द्र गुप्ता का शव उनके गृहग्राम ईशानगर पहुंचा तो यहां के मुख्य चौराहे पड़ाव पर ईशानगर सहित आसपास के क्षेत्र के लोग भारी संख्या में एकत्रित हो गए और यहां भी चक्काजाम कर दिया गया। इस दौरान क्षेत्र के युवा नेता भुवन विक्रम सिंह केशू राजा भी मौजूद रहे। इतना ही नहीं कस्बे की महिलाओं ने थाने में घुसकर जमकर नारेबाजी करते हुए आरोपी को फांसी देने की मांग रखी। हंगामे की खबर लगने के बाद बड़ामलहरा एसडीओपी के साथ बिजावर, गुलगंज, मातगुवां और पिपट थाना प्रभारी भारी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंच गए। करीब ढाई घंटे तक चले हंगामे के बाद बड़ी मशक्कत के बाद पुलिस आक्रोशित लोगों को समझा पाई और इसके बाद लोग शांत हुए।
इनका कहना-
सागर रोड पर गजराज पैलैस के समीप बसपा नेता महेन्द्र गुप्ता की गोली मारकर हत्या की गई है। सिविल लाइन थाना में हत्या का मामला पंजीबद्ध किया गया है। हत्यारे को पकडऩे के लिए टीमें गठित की गई हैं, जिनके द्वारा लगातार तलाश की जा रही है। संभवत: जल्द ही आरोपी पकड़ लिए जाएंगे।
अमित सांघी, एसपी, छतरपुर

--- इसे भी पढ़ें ---

Ads on article

Advertise in articles 1

advertising articles 2

Advertise under the article

-->