-->
पाए सभी खबरें अब WhatsApp पर Click Now

Below Post Ad

Image
स्वामी विवेकानंद जी के चरणों में अतिथि शिक्षकों ने दिया ज्ञापन

स्वामी विवेकानंद जी के चरणों में अतिथि शिक्षकों ने दिया ज्ञापन


छतरपुर।प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अतिथि शिक्षकों के साथ आयोजित महापंचायत में घोषणा की थी कि राज्य शिक्षण संचनालय भोपाल के द्वारा आदेश भी जारी किया था जिसमें कहा गया था कि पूर्व से  कार्यरत अतिथि शिक्षकों को आगामी आदेश तक कार्य मुक्त नहीं किया जाए पूर्व मुख्यमंत्री की घोषणा अनुसार कोई भी नियमित शिक्षक आने पर एक वर्ष का अनुबंध कर अतिथि शिक्षकों को नहीं हटाया जाएगा एवं अतिथि शिक्षकों को नियमित करने की योजना भी बनाई जाएगी ताकि अतिथि शिक्षकों का भविष्य सुरक्षित हो सके किंतु छतरपुर जिले में इन आदेशों का पालन नहीं हो रहा है जिले के अतिथि शिक्षक विभाग के अधिकारियों की मनमानी और तानाशाह के विरोध में आजाद स्कूल अतिथि शिक्षक संघ के जिला अध्यक्ष राम अवतार कुशवाहा के नेतृत्व में मुख्यमंत्री के नाम संबोधित ज्ञापन लवकुशनगर के स्वामी विवेकानंद पार्क में स्थित स्वामी विवेकानंद जी के चरणों में सौपा है जिला अध्यक्ष राम अवतार कुशवाहा ने बताया कि अतिथि शिक्षक करीबन 15-16 वर्षों से शासकीय स्कूलों में अल्प  वेतनमान में अपनी सेवाएं देते आ रहे हैं किंतु छतरपुर जिले के जिला शिक्षा अधिकारी एवं विकासखंड शिक्षा अधिकारीयो के द्वारा विद्यालयों के प्राचार्य को मौखिक रूप से पद से मुक्त करने को कहा गया है जो की वरिष्ठ कार्यालय के लिखित आदेश की अवहेलना है ज्ञापन के माध्यम से कहा है कि जो अतिथि शिक्षक जहां पर पूर्व से कार्यरत है उन्हें इस संस्था पर कार्य करने की अनुमति प्रदान की जाए एवं प्रमोशन से आए हुए शिक्षकों को संकुल ब्लॉक एवं जिला अंतर्गत रिक्त पदों पर समायोजित किया जाए इस दौरान संघ से दीप सिंह तोमर कमल चंद्र अनुरागी परसराम अहिरवार मोहनलाल प्रजापति चंद्रपाल विश्वकर्मा दुर्गेश द्विवेदी अवध किशोर त्रिपाठी अखिलेश गंगेले फिरोज शीशगर नीरज कुशवाहा भारत दयाल पटेल अनिल कुमार मिश्रा अरविंद कुमार पाराशर राजकुमार अहिरवार बलवंत अहिरवार अरविंद कुमार दीक्षित सत्येंद्र कुमार जैन भारत कुमार अहिरवार सुरेंद्र कुमार अहिरवार चेतन अहिरवार आदि लगभग 5 दर्जन अतिथि शिक्षकों ने ज्ञापन सौंपा है और अपनी वेदना व्यक्त की है

--- इसे भी पढ़ें ---

Ads on article

Advertise in articles 1

advertising articles 2

Advertise under the article

-->