-->
पाए सभी खबरें अब WhatsApp पर Click Now

Below Post Ad

Image
शराब फैक्ट्री के कमरे में सो रहे दो मजदूरों की मौत, तीन की हालत गंभीर

शराब फैक्ट्री के कमरे में सो रहे दो मजदूरों की मौत, तीन की हालत गंभीर


नौगांव की शराब फैक्ट्री में बड़ा हादसा, दम घुटने से मौत की आशंका,
फॉरेंसिक टीम ने घटना स्थल का किया निरीक्षण, जांच में जुटी पुलिस

नौगांव। नगर की शराब फैक्ट्री में मंगलवार की सुबह उस वक्त हड़कंप मच गया जब फैक्ट्री के ही एक कमरे में दो मजदूर मृत तथा तीन मरणासन्न अवस्था में पड़े मिले। घटना की जानकारी मिलने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस टीम सभी मजदूरों को अस्पताल ले गई थी जहां दो मजदूरों को मृत घोषित कर दिया गया जबकि तीन मरीजों को गंभीर हालत में जिला अस्पताल रेफर किया गया। मजदूरों के साथ रात को क्या हुआ इस बारे में सपष्ट जानकारी सामने नहीं आई है लेकिन पुलिस को दम घुटने अथवा अधिक शराब का सेवन किए जाने के कारण हादसा होने की आशंका है। उक्त सभी मजदूर बिहार राज्य के गोपालगंज जिले के रहने वाले हैं, जिन्हें मंगलवार को छुट्टी पर अपने गांव वापिस जाना था।

जानकारी के अनुसार नौगांव में स्थित शराब फैक्ट्री जैकपिन बेबरीज कॉक्स डिस्लरी के 5 मजदूरों ने मंगलवार की सुबह जब काफी देर तक अपने कमरे के दरवाजे नहीं खोले तो उनके सा?थियों ने आवाज दी। जब अंदर से कोई जवाब नहीं आया तो उन्हें अनहोनी की आशंका हुई और फिर करीब साढ़े 10:30 बजे सुबह पुलिस को सूचना दी गई।

 मौके पर पहुंची पुलिस दरवाजे तोड़कर कमरे में दाखिल हुई, जहां एक मजदूर बाथरूम में, एक आगे के कमरे में तथा तीन मजदूर अंदर बिस्तर पर अचेत अवस्था में पड़े हुए थे। पांचों मजदूरों को तत्काल नौगांव स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया। परीक्षण के बाद अस्पताल के चिकित्सकों ने ठेकेदार पवन कुमार उम्र 30 वर्ष पुत्र लालजी निवासी खरोनी जिला गोपालगंज बिहार व मजदूर प्रकाश उम्र 27 वर्ष को मृत घोषित कर दिया। इसके अलावा मजदूर धीरेंद्र कुमार पुत्र नंदकिशोर यादव (25) , नितिन (23) और बृजेश (22) सभी निवासी गोपालगंज बिहार को नाजुक हालत में प्राथमिक उपचार के बाद जिला अस्पताल के रेफर किया गया।

वहीं दूसरी ओर पुलिस ने सभी मजदूरों के परिजनों को सूचना दी। परिजनों के आने के बाद ही शवों का पीएम कराया जाएगा। वहां टीकमगढ़ से घटना स्थल पर पहुंची फॉरेंसिंक टीम ने बारीकी से घटना स्थल का नरीक्षण किया है।

पाइप लाइन फिटिंग और बैल्डिंग करते थे मजदूर-
बताया गया है कि ठेकेदार पवन कुमार, प्रकाश, धीरेंद्र कुमार यादव, नितिन और बृजेश करीब 5 माह पहले फैक्ट्री में आए थे। शुरुआत से ही वे फैक्ट्री के अंदर मौजूद एक जर्जर कमरे में रह रहे थे। पांचों लोग फैक्ट्री की पाइप लाइन फिटिंग और बैल्डिंग का काम करते थे। फैक्ट्री के मैनेजर वीरेंद्र भदौरिया ने बताया कि पांचों मजदूरों ने आने वाले त्यौहार पर घर जाने के लिए छुट्टी ली थी और मंगलवार की सुबह ही उन्हें बिहार के लिए निकालना था। सोमवार को रात में मजदूरों द्वारा मेला देखने और पार्टी किए जाने की बात भी सामने आई है।
संदिग्ध परिस्थिति में हुई है मजदूरों की मौत-
घटना की सूचना मिलते ही नौगांव एसडीओपी चंचलेश मरकाम ने थाना प्रभारी, तहसीलदार और आबकारी अधिकारी के साथ फैक्ट्री का निरीक्षण करते हुए घटना के पीछे के कारणों का पता लगाने का प्रयास किया है। प्रशासन द्वारा इस दम घुटने अथवा अधिक शराब पीने के कारण घटना होने की आंशका जाहिर की है। हालांकि पूरा मामला अभी संदिग्ध है और जांच की जा रही है। मौत की वास्तविक वजह पीएम रिपोर्ट आने के बाद ही सामने आएगी

--- इसे भी पढ़ें ---

Ads on article

Advertise in articles 1

advertising articles 2

Advertise under the article

-->