-->
पाए सभी खबरें अब WhatsApp पर Click Now

Below Post Ad

Image
कपड़ा व्यापारी ने करवाई थी शूटर की घर में एंट्री

कपड़ा व्यापारी ने करवाई थी शूटर की घर में एंट्री


राजस्थान।कपड़ा व्यापारी नवीन के बुआ के बेटे की शादी होनी थी, इसी का इन्विटेशन देने वो गोगामेड़ी के घर गया था। दोनों शूटर भी उसी के साथ ही दोस्त बनकर गए थे, लेकिन शूटरों ने जाते समय नवीन की भी हत्या कर डाली।

सबसे बड़ा सवाल है शूटरों के गोगामेड़ी से मिलवाने ले गए नवीन को शूटरों ने गोली क्यों मारी? पुलिस अब नवीन के मोबाइल और कॉल डिटेल की जांच कर उनके बीच कनेक्शन की पड़ताल कर रही है। पड़ताल में यह भी सामने आया कि पंजाब पुलिस ने करीब 8 महीने पहले ही गोगामेड़ी पर हमले की साजिश का अलर्ट राजस्थान पुलिस को भेज दिया था। अलर्ट मिलने के बाद भी पुलिस की हमले को रोकने और गोगामेड़ी को सुरक्षा देने में लापरवाही रही। भास्कर ने दोनों शूटर को साथ ले जाने वाले युवक नवीन के रिश्तेदारों से बात की तो चौंकाने वाली जानकारी सामने आई।


*कपड़े का कारोबार करता था नवीन*,,


नवीन शेखावत के रिश्तेदार ने पहचान छिपाने की शर्त पर बताया कि नवीन सिंह शेखावत कोटपूतली के बोनावास गांव का रहने वाला था। उसका परिवार करीब 20 साल पहले गांव छोड़कर जयपुर में आ गया था। नवीन भी जयपुर में कपड़े का कारोबार करता था। वो अपने परिवार के साथ शाहपुरा में रहता था।


*करणी सेना से जुड़ा था नवीन*


नवीन शेखावत श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना से जुड़ा हुआ था। उसकी करणी सेना के अध्यक्ष सुखदेव सिंह गोगामेड़ी से पहले से जान पहचान थी। कई बार नवीन के रिश्तेदार और गांव में भी गोगामेड़ी कार्यक्रमों में शरीक होने गया था।


*गार्ड ने की थी नवीन से पूछता*


अंदर घुसने से पहले गार्ड ने भी नवीन से पूछताछ की थी। तब नवीन ने गार्ड को बताया कि वो शादी का कार्ड देने के लिए आया है। नवीन सिंह की गोगामेड़ी से पुरानी पहचान होने के चलते गार्ड ने भी उन्हें अंदर जाने दिया।



*कार्ड देते समय 2 शूटर ने फायरिंग शुरू कर दी*,,


मकान के ग्राउंड फ्लोर पर श्री राजपूत करणी सेना के ऑफिस में ही तीनों सोफे पर बैठ गए। सुखदेव सिंह इस दौरान वहीं बैठे थे। नवीन शादी का कार्ड देने के लिए सुखदेव सिंह के बिलकुल पास वाले सोफे पर बैठ गया। दोनों शूटर सुखदेव सिंह गोगामेड़ी के ठीक सामने वाले सोफे पर बैठे थे। करीब 5 मिनट से नवीन और गोगामेड़ी के बीच बातचीत चल रही थी। इस दौरान गोगामेड़ी अपने मोबाइल में कुछ देख रहे थे। गोगामेड़ी का करीबी भी अपने मोबाइल में कुछ देखने में व्यस्त था। तभी पहले से तैयारी करके आए दोनों शूटर ने ऑटोमैटिक पिस्टल निकाली और सोफे से उठकर पहली गोली गोगामेड़ी को मारी। फिर दूसरी गोली नवीन को मारी। इसके बाद तिसरी गोली उन्होंने गोगामेड़ी के पास खड़े रिश्तेदार को भी मारी। इसके बाद शूटर ने गोगामेड़ी पर फिर से फायरिंग शुरू कर दी। गोली लगते ही गोगामेड़ी सोफे से नीचे गिर गए थे। इसके बाद एक शूटर ने वापस आकर गोगामेड़ी के सिर के पीछे से गोली मारी। फायरिंग के बाद दोनों शूटर वहां से भागने लगे।

--- इसे भी पढ़ें ---

Ads on article

Advertise in articles 1

advertising articles 2

Advertise under the article

-->