-->
पाए सभी खबरें अब WhatsApp पर Click Now

Below Post Ad

Image
आबकारी विभाग के अधिकारियों ने आंखें कि बंद, युवा पीढ़ी का भविष्य हो रहा बर्बाद

आबकारी विभाग के अधिकारियों ने आंखें कि बंद, युवा पीढ़ी का भविष्य हो रहा बर्बाद

(संदीप सेन)

!!मातगुवा शाराब ठेके की वीडियो वायरल होने के बाद भी  पुलिस व आबकारी विभाग आय दिन  हो रही वीडियो वायरल  फिर भी नहीं हो रही कार्यवाही आय दिन निजी वाहन से ब्लैक मे बेची जा रही अवैध शराब पुलिस के संरक्षण में चल रहा है  शराब का अवैध धंधा!! 

!! कलेक्टर संदीप जी आर व एस पी अमित सांघी की छवि घुमिल करने मे लगे मातगुवा थाना प्रभारी!! 

छतरपुर।शहर ही नहीं गांवों में भी धड़ल्ले से अवैध रुप से शराब की बिक्री हो रही है। हालात ये है कि किराना की दुकान पर भी शराब मिल जाती है। गांवों में हथकड़ी दारू भी सरेआम बिक रही है। अवैध रूप से शराब बेचने वालों को पकड़ने के लिए  छतरपुर कलेक्टर संदीप जी आर ने भी अभियान चलाया हुआ है। वहीं शहर के लोगों ने भी पुलिस प्रशासन से मांग की है कि इस मुहिम को बड़े स्तर पर चलाया जाए। खासतौर पर गली-मौहल्लों में अभियान चलाकर अवैध रूप से बिकी रही शराब पर अंकुश लगाया जाए। आमजन ने बिक रहे नशे को कैसे बंद किया जाए और ये स्वास्थ्य के लिए खतरनाक है इस पर अपनी राय दी है।

देश में अल्कोहल बिक्री पर लगना चाहिए बैन-

सरकार को देश में अल्कोहल की ब्रिकी बंद कर देनी चाहिए। अगर, सरकार इस और सख्त कदम उठाए तो देश का युवा नशे की गिरफ्त से बाहर आ सकता है। इसके अलावा परिजन और शिक्षकों को बच्चों को नशे के प्रति जागरूक करना चाहिए। उन्हें नशे से होने वाले नुकसान के बारे में बताना चाहिए। शिक्षण संस्थानों में नशे के खिलाफ जागरूकता अभियान चलाने चाहिए। पुलिस प्रशासन की तरफ से अवैध रूप से नशा बचेने वालों पर सख्त कार्रवाई करनी चाहिए। वहीं युवाओं को भी नशे के खिलाफ लड़ाई-लड़नी चाहिए।छतरपुर जिले की बिजाबर विधान सभा क्षेत्र के दर्जनों गांव में आबकारी विभाग के अधिकारियों की मिलीभगत के चलते स्थानीय लाइसेंसी शराब ठेकेदार के माध्यम से ही अवैध शराब बिक्री करवाई जा रही है। इसको लेकर क्षेत्रीय ग्रामीण महिलाएं एवं जनप्रतिनिधि कई बार लामबंद हो चुके हैं।


इस मुद्दे पर भाजपा विधायक राजेश शुक्ला ने   एक प्रेस कॉन्फ्रेंस मे   भी आपत्ति जताते हुए गांवों में शराब की अवैध बिक्री रोकने की बात कही परंतु यह गोरखधंधा बदस्तूर चल रहा है। इस पर रोक नहीं लग पा रही है।  इसके बावजूद भी लाइसेंसी ठेकेदार अवैध शराब बिक्री धड़ल्ले से करा रहा है।

लंबे समय से गांवो में हो रही शराब की अवैध बिक्री-

बिजाबर,मातगुवा, बक्सवाह ,बोकना,काटी,गढ़ा,ईशानगर,कंजापुर  माउखेढा ग्रामों में स्थानीय लाइसेंसी शराब ठेकेदार के संरक्षण में लंबे समय से गांवों में शराब की अवैध बिक्री की जा रही है। आबकारी विभाग की मिलीभगत से शराब ठेकेदार द्वारा खुद के वाहनों से खुलेआम गांव-गांव दुकानें खुलवाकर अंग्रेजी एवं देशी शराब बेची जा रही है। जिसके कारण ग्रामीण क्षेत्रों में आए दिन झगड़े हो रहे है। वहीं विशेष तौर पर पुरुषों की शराबखोरी की लत के कारण महिलाएं परेशान हो रही हैं। गृह कलह से जूझ रही है।

युवा पड़ रहे नशे की लत -

दर्जनभर ग्रामों में अवैध शराब खुलेआम बिकने के कारण युवा नशे की लत में पड़ते जा रहे हैं और जिम्मेदार हाथ पर हाथ रखे बैठे हुए हैं। ग्रामीण क्षेत्रों में आए दिन मारपीट के मामले सामने आ रहे हैं परिवारों में आपसी कलह देखी जा रही है जिसका मुख्य कारण शराब ही है। जो युवा देश का भविष्य है आज नशे की लत के कारण मदहोशी में पड़ा है और जिम्मेदार बेखबर हैं।

विभाग के जिम्मेदार कार्रवाई के नाम पर करते हैं खानापूर्ति -

वहीं ग्रामीणों ने आरोप लगाया है कि क्षेत्र में खुलेआम अवैध शराब बेची जा रही विभाग के अधिकारियों को कई बार अवगत करा चुके हैं इसके बावजूद विभाग के जिम्मेदार कार्रवाई के नाम पर खानापूर्ति करते हैं। अवैध कारोबारियों का गोरखधंधा जैसा चल रहा है चलता रहता है इसलिए इन्हें किसी की कोई परवाह नहीं है, क्योंकि विभाग के जिम्मेदार भी इस गोरखधंधे में शामिल हैं।

--- इसे भी पढ़ें ---

Ads on article

Advertise in articles 1

advertising articles 2

Advertise under the article

-->