-->
पाए सभी खबरें अब WhatsApp पर Click Now

Below Post Ad

Image
भगवान भरोसे मंडी, व्यापारी किसानों से सीधे फसल खरीदी कर टैक्स की कर रहे चोरी

भगवान भरोसे मंडी, व्यापारी किसानों से सीधे फसल खरीदी कर टैक्स की कर रहे चोरी

छतरपुर। विधान सभा निर्वाचन 2023 के लिये जबसे आचार सहिता लागू हुई है तभी से मंडी अधिकारियों की मिलीभगत से व्यापारी खुलेआम टेक्स चोरी कर रहे हैं। अधिकारियों की लापरवाही के कारण खरीफ की फसल बाजार में आने के साथ ही किसानों का शोषण प्रारंभ हो गया है। मंडी में नीलामी शुरू हो गई है लेकिन नीलामी शुरू होने के बाद से मंडी परिसर में 50 टन के लगभग मूंगफली की आवक हुई है। वहीं मंडी के आसपास कई ऐसे गोदाम बने हुए हैं जहां डायरेक्टली किसान अपनी फसल को वाहन में भरकर गोदाम में बेच रहे हैं, तो वहीं मंडी के बाहर छोटी-छोटी दुकानों में अवैध रूप से व्यापारी खरीदी करते नजर आ रहे हैं। इससे साफ जाहिर होता है कि, मंडी प्रबंधन का व्यापारियों पर नियंत्रण नहीं है, जिससे वह खुलेआम मंडी के बाहर खरीदी कर रहे हैं, जिससे छतरपुर कृषि उपज मंडी में टैक्स की चोरी हो रही है..

मंडी में होती है टैक्स चोरी-

फुटकर गल्ला व्यापारी तो टैक्स चोरी कर ही रहे हैं, वहीं मंडी के अंदर भी कुछ व्यापारी टैक्स चोरी करने में पीछे नहीं हैं। सीजन के समय यहां भी टैक्स चोरी होती है और कुछ महीनों पूर्व मामला उजागर भी हो चुका है, जिसमें व्यापारियों से वसूली की गई थी।

मंडी सचिव संतोष नागर-

चुनाव में डयूटी लगी हुई है जिससे वह चुनाव ड्यूटी का बहाना करके मंडी टैक्स की चोरी करने वाले व्यापारियों के खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं कर रहे है। बिना अनुबंध के माल व्यापारी सीधे प्लांट पर लेकर पहुंच रहे हैं उनका अनुबंध नहीं कराया जा रहा है।सूत्रों की माने तो वसूली के लिए प्राइवेट कर्मचारी लगाए हुए हैं जिनके माध्यम से व्यापारी टैक्स चोरी के एवज में मंडी सचिव के पास लाखो रुपया हर महीने भिजवाते हैं। ...


 इस संबंध में जब मंडी सचिव संतोष नागर से बात की गई तो उनका कहना है कि मेरी ड्यूटी चुनाव में लगी हुई है मुझे जानकारी है कि सीधे प्लांटों पर व्यापारी माल लेकर पहुंच रहे है लेकिन हमारे पास 24 घंटे कर्मचारी तो हैं नहीं कि हम चेक करें हमारे चेकिंग दल की भी चुनाव में ड्यूटी लगी हुई है.. हम कुछ नही कर सकते...

--- इसे भी पढ़ें ---

Ads on article

Advertise in articles 1

advertising articles 2

Advertise under the article

-->