-->
पाए सभी खबरें अब WhatsApp पर Click Now

Below Post Ad

Image
 पाइप लाइन के लिए सडक़ खोदकर भूले  बरसात में पानी भरने से रहवासियों को होगी समस्या

पाइप लाइन के लिए सडक़ खोदकर भूले बरसात में पानी भरने से रहवासियों को होगी समस्या


हरपालपुर। जलावर्धन योजना के तहक लोगों के घरों तक पानी पहुंचाने के लिए नगर की सारी सडक़ों को खोदकर पाइप लाइन तो डाले जाने का काम रुक रुक जारी हैं। लेकिन इन खोदी गई सीसी सडक़ो की खाइयों की मरम्मत नहीं होने से  जिससे लोग गिरकर घायल हो रहे हैं। करीब ढाई साल से जलावर्धन योजना के तहत सीसी रोड खोदकर उनमें पाइप लाइन बिछाने का काम किया जा रहा है।
नगर के 15 वार्डों में ठेकेदार द्वारा नगर की सीसी रोड को मनमाने तरीके से खोद दिया है। पाइप लाइन डालने के बाद खुदी पड़ी सडक़ों की मरम्मत करना तो दूर खोदी गई खाइयों को सही तरीके से मिटटी से ही नहीं भरा गया है। जिससे लोगों का चलना मुश्किल हो गया है। अकसर लोग इन खाइयों में गिरकर चोटिल हो रहे हैं, आवाजाही में परेशानी हो रही है। दो पहिया वाहन इन गड्ढों में गिरकर दुर्घटना के शिकार हो रहे है। इन मार्गो में पाइप लाइन के लिए खोदी गई सीसीरोड की गिटटी व मिट्टी भी निकाल दी गई जिससे मार्ग में एक से दो फुट चौडे गड्ढे हो गए है। लोगों का कहना है कि खुदी पड़ी सडक़ से निकलने में परेशानी हो रही हैं। कई बार रात में आने जाने के दौरान हादसे हो जाते हैं। लोग अधिकारियों व जनप्रतिनिधियों से इस बात को लेकर नाराज हैं कि उन्हें लोगों की समस्याओं की चिंता नहीं है। इसी कारण खोदी गई सडक़ों की मरम्मत नहीं की जा रही है। इस लापरवाही को लेकर लोगों में आक्रोश पनप रहा है, जो कभी भी सडक़ों पर फूट सकता है।
बरसात में पानी भरने से बड़ेगी समस्या-
वार्ड की जिन गलियों में सडक़ों की खुदाई की है। पाइप डालने के बाद उसके ऊपर मिट्टी डालकर छोड़ दी है, जो आने वाले समय मे बारिश होने पर गीली होकर दलदल में बदल जाएगी। जिस इन  मोहल्लों में हालात बदतर हो जायेगे। ऐसे में इन सीसी सडक़ो पर पैदल चलना ओर भी दूभर हो जाएगा। लोगों के वाहन तक गंतव्य तक नहीं पहुंच पाएंगे। कीचढ़ मिट्टी से भरी इन गलियों में चार पहिया वाहन फंस डर बना रहेगा। तो बड़े वाहनों से सडक़ें और भी जर्जर हो रही हैं। हल्की सी बारिश में  बाइक सवार फिसलकर चोटिल होने अंदेशा बना रहेगा। इस स्थिति को देखते हुए कंपनी ठेकेदार ने मरम्मत का कार्य फिलहाल शुरू नहीं कराया है।

--- इसे भी पढ़ें ---

Ads on article

Advertise in articles 1

advertising articles 2

Advertise under the article

-->