-->
पाए सभी खबरें अब WhatsApp पर Click Now

Below Post Ad

Image
नियमित संचालित नही हो रहा आंगनवाड़ी केंद्र, ग्रामीणों में भारी आक्रोश

नियमित संचालित नही हो रहा आंगनवाड़ी केंद्र, ग्रामीणों में भारी आक्रोश

 

घुवारा। बड़ामलहरा जनपद क्षेत्र के ग्राम पंचायत बरेठी के टौरो में महिला बाल विकास विभाग के अंतर्गत संचालित आंगनवाड़ी केंद्र का नियमित संचालन न होने का मामला सामने आया है। जानकारी के मुताबिक आंगनवाड़ी केंद्र में पदस्थ आंगनवाड़ी कार्यकर्ता रानी विश्वकर्मा, आंगनवाड़ी सहायिका कुसुम सेन की मनमानी एवं लापरवाही के चलते बरेठी ग्राम पंचायत के टौरो क्रमांक-2 ग्राम के आंगनवाड़ी केंद्र पर ताला लटका रहता है। ग्रामीणों ने जानकारी देते हुए बताया कि आंगनबाड़ी केंद्र एक सप्ताह में केवल एक दिन ही खुलता है। जिससे छोटे-छोटे बच्चों को मायूस होकर घर लौटना पड़ता है। आंगनबाड़ी कार्यकर्ता रानी विश्वकर्मा व सहायिका की मनमानी के चलते बच्चों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इतना ही नहीं नन्हे मुन्ने बच्चे आंगनबाड़ी केंद्र खुलने का इंतजार करते रहते हैं। लेकिन आंगनवाड़ी कार्यकर्ता व सहायिका की मनमानी के चलते उन्हें आंगनबाड़ी केंद्र में ताला लटका देख उदास होकर वापस घर जाना पड़ता है।
 जानकारी के मुताबिक आंगनबाड़ी केंद्र में कुल दर्ज संख्या 57 है। जब मौके पर पहुंचकर देखा तो आगनवाड़ी केंद्र के बाहर छोटे छोटे बच्चे खड़े हुए थे। आंगनवाड़ी केंद्र के खुलने के इंतजार में खड़े बच्चो में ओमशी लोधी ने बताया की आंगनवाड़ी न ही नियमित खुलती और न ही आगनवाड़ी में नियमित रूप से खाना वितरण होता है ग्राम के राजकिशोर कुशवाह ने जानकारी देते हुए बताया की आंगनवाड़ी में पदस्थ कार्यकर्ता आर सहायिका की लापरवाही की कई बार अधिकारियो से शिकायत दर्ज की है लेकिन अधिकारियो के संरक्षण में आंगनवाणी में पदस्थ कर्मचारियों पर कोई कार्यवाही नहीं हुई है। नियमित रूप से नही बनता खाना, समूह संचालक बच्चो के हक पर डाल रहा डांका ।
आंगनवाड़ी के खुलने के इंतजार में खड़े अभय पाल, राज  पाल, आशीष लोधी, अंकु कुशवाहा, सरस्वती पाल, क्रेश लोधी ,आशिका पाल ने बताया की आंगनवाड़ी में समूह संचालक के द्वारा नियमित खाना बनवाकर वितरण कार्य नही किया जाता है।आंगनवाड़ी केंद्र में पदस्थ कार्यकर्ता और सहायिका की मिलीभगत एवं समूह संचालक की घोर लापरवाही के कारण बच्चो को आंगनवाड़ी केंद्र से मायूस होकर लौटना पड़ता है।
शिकायत के बाद भी नहीं होती कार्यवाही-
ग्रामीणों ने जानकारी देते हुए बताया की महिला बाल विकास विभाग के द्वारा भी आंगनवाड़ी केंद्र का कभी निरीक्षण नही किया जाता है। जिसके चलते आंगनवाड़ी में पदस्थ कर्मचारी अपनी लापरवाही बरतने में कोई संदेह नहीं करते है। वहीं ग्रामीणों ने कई बार आंगनवाड़ी कार्यकर्ता, सहायिका सहित समूह संचालक की लापरवाही कि शिकायत मुख्यमंत्री हेल्प लाइन पर की लेकिन शिकायत के बाद भी लापरवाह कर्मचारियों पर कार्यवाही नही होती है।
इनका कहना है-
बरेठी के टौरो ग्राम में आंगनवाड़ी क्रमांक 2 में पदस्थ कार्यकर्ता, सहायिका की लापरवाही के कारण नियमित रूप से आंगनवाड़ी केंद्र का संचालन न होने के साथ नियमित खाना वितरण न होना भी संज्ञान में आपके द्वारा आया है मेरे द्वारा मामले की तत्काल बारीकी से जांच की जायेगी जांच उपरांत दोषियों पर कार्यवाही की जायेगी।
राजकुमार बागरी, महिला बाल विकास परियोजना अधिकारी बड़ामलहरा

--- इसे भी पढ़ें ---

Ads on article

Advertise in articles 1

advertising articles 2

Advertise under the article

-->