-->
पाए सभी खबरें अब WhatsApp पर Click Now

Below Post Ad

Image
दलित परिवार की महिलाओं, लड़कियों, पुरुषो को घसीटकर थाना में किया बंद, थाने के मैन गेट का पुलिस ने लगाया ताला, विडिओ हुआ वायरल

दलित परिवार की महिलाओं, लड़कियों, पुरुषो को घसीटकर थाना में किया बंद, थाने के मैन गेट का पुलिस ने लगाया ताला, विडिओ हुआ वायरल

दलित परिवार की महिलाओं, लड़कियों, पुरुषो को घसीटकर थाना में किया बंद, थाने के मैन गेट का पुलिस ने लगाया ताला, की जा रही मारपीट 

छतरपुर में ओरछा रोड थाना अंतर्गत जमीन पर कब्जा कराने पहुंची दो थानों की पुलिस, दलित परिवार को घसीट कर पकड़ कर महिलाओं लड़कियों सहित थाने में किया बंद, मेन गेट का ताला लगाकर की जा रही महिला और लड़कियों के साथ मारपीट.भाजपा नेता मणिकांत चौरसिया, धीरज गुप्ता और अमित अवस्थी सहित भाजपा की विधायक का नाम सामने आया।

यह है मवला-

छतरपुर झांसी से खजुराहो फोर लाइन पर सौरा गांव निवासी रामलाल अहिरवार का बेटा बबलू, बहु और नाती कोमल रामलाल की मारपीट कर प्रताड़ित करते थे, जमीन में जाने नही देते थे। रामलाल ने बेटा, बहु और नाती की प्रताड़ना से तंग आकर जमीन इको प्रो वेंचर फर्म को रजिस्टर्ड विक्रय पत्र के माध्यम से 59 लाख रूप में बेंच दी थी।

 फर्म के द्वारा जमीन का सीमांकन कराया जा रहा था, आज तहसीलदार, आर आई, पटवारी राजस्व विभाग की टीम मौके पर जमीन का सीमांकन करने पहुंची तो विक्रेता रामलाल अहिरवार का बेटा बबलू अहिरवार और उसके परिवार की महिलाएं पुरुष जमीन पर आकर वाद विवाद करने लगे और सीमांकन में की कार्रवाई में बाधा डालने लगे। राजस्व विभाग के द्वारा विवाद बढ़ता देख पुलिस को मौके पर बुलाया गया। जब पुलिस के आने के बाद भी विवाद शांत नहीं हुआ तब पुलिस टीम ने सुरक्षा की दृष्टि से विवाद करने वाले बबलू अहिरवार और उनके परिवार के लोगों को थाना ले आए। फर्म के जमीन खरीदने वाले फर्म के लोगों ने बताया कि उनके द्वारा नियम अनुसार जमीन बबलू के पिता से रुपए देकर खरीदी गई है। जिसमे विक्रेता के बेटे ने भी सहमति दी थी। लेकिन विक्रेता का  बेटा बबलू जबरन विवाद कर रहा है, बबलू का खरीदी गई जमीन पर कोई भी अधिकार नहीं है। बबलू विवाद कर धमकी दे रहा है यदि जमीन पर आए तो फर्म के लोगो पर झूठा हरिजन एक्ट का मामला दर्ज करवा कर जेल भिजवा दिया जाएगा।

वही पुलिस ने बताया कुछ लोगों द्वारा विवाद की स्थिति निर्मित की गई थी उनको अभिरक्षा में लिया गया था,अभियुक्त को ओरछा रोड थाने में पुलिस बल कम देखकर भागने का प्रयास कर रहे थे,अभियुक्तों को भागने से रोकने के लिए गेट बंद किया गया था मारपीट वगैरह नहीं की गई।

--- इसे भी पढ़ें ---

Ads on article

Advertise in articles 1

advertising articles 2

Advertise under the article

-->