-->
पाए सभी खबरें अब WhatsApp पर Click Now

Below Post Ad

Image
 छतरपुर नगर पालिका में प्रधानमंत्री आवास योजना मे हुई गड़बड़ी की उच्च स्तरीय जांच होगी

छतरपुर नगर पालिका में प्रधानमंत्री आवास योजना मे हुई गड़बड़ी की उच्च स्तरीय जांच होगी


छतरपुर। नगरीय प्रशासन मंत्री कैलाश विजयवर्गीय ने विधानसभा में कहा है कि छतरपुर नगर पालिका में प्रधानमंत्री आवास योजना मे हुई गड़बड़ी की उच्च स्तरीय कमेटी जांच करेगी और वाउचर मे हस्ताक्षर करने वालों पर भी कार्यवाही होगी। यह मामला छतरपुर विधायक ललिता यादव ने सदन में उठाया था। उन्होंने बताया कि योजना का लाभ पाने वाले 90 अपात्र लोग आज भी लापता हैं।

छतरपुर विधायक ललिता यादव ने नगर पालिका छतरपुर मे प्रधानमंत्री आवास योजना मे हुई अनियमितताओ का मामला मध्य प्रदेश विधानसभा में उठाते हुए नगरीय प्रशासन मंत्री कैलाश विजयवर्गीय को बताया कि 21 नहीं 90 अपात्रों को राशि दी गई जिसे वे डकार गए वहीं 3417 प्रकरण सरेंडर किए गए।
नगरीय प्रशासन मंत्री कैलाश विजयवर्गीय ने बताया कि नगर पालिका छतरपुर में प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी के अंतर्गत गठित जांच समिति के प्रतिवेदन में उल्लेखित 372 हितग्राहियों में से 21 हितग्राही अपात्र पाये गये जिनको राशि दी गई थी। उनसे वसूली की जा रही है।
 ललिता यादव ने सदन को बताया कि तत्कालीन कलेक्टर ने  प्रधानमंत्री आवास की 10573 हितग्राहियो की सूची अनुमोदित की थी जिसमे से 5900 लोग लाभांवित हुए और 3417 प्रकरण सरेंडर किये।
ललिता यादव ने विधानसभा में कहा कि प्रधानमंत्री की लोक कल्याणकारी योजना मे जमकर भ्रष्टाचार किया गया। महाराजपुर विधानसभा क्षेत्र के ग्राम उजरा के दो सगे भाई प्रदीप पाठक और रामकुमार पाठक जो छतरपुर नगर पालिका सीमा मे नही है, फिर भी उन्हें लाभ दिया गया। इसके साथ ही पांच प्रकरण ऐसे है जिनमे पति पत्नी भी लाभ पा चुके हैं। जबकि वार्ड 12 की मुन्नी बाई खटीक को आवास मिला, पैसे डाले गए, मगर पैसा किसने निकाल लिए यह पता ही नहीं है। वह आज तक आवास के लिए भटकती फिर रही है। ललिता यादव ने बताया कि छतरपुर नगर पालिका ने 2018 से 2022 तक कोई डीपीआर नहीं बनाया जिससे इस लोक कल्याणकारी योजना का लाभ पात्र लोगों को भी नही मिल पाया। उन्होंने इस पूरे मामले की उच्च स्तरीय जांच करा कर सभी दोषियों के खिलाफ कार्यवाही की मांग सदन में उठाई थी।


--- इसे भी पढ़ें ---

Ads on article

Advertise in articles 1

advertising articles 2

Advertise under the article

-->