-->
पाए सभी खबरें अब WhatsApp पर Click Now

Below Post Ad

Image
प्रसव के बाद नव विवाहिता की मौत, परिजन ने लापरवाही का आरोप लगाया

प्रसव के बाद नव विवाहिता की मौत, परिजन ने लापरवाही का आरोप लगाया

 


नौगांव।सिविल अस्पताल में शनिवार को प्रसव के कुछ घंटों बाद महिला की मौत हो गई। गुस्साए परिजन ने अस्पताल प्रबंधन पर लापरवाही करने के आरोप लगाए। हंगामे के बाद मामले में नायब तहसीलदार सहित प्रशासनिक अमले ने अस्पताल पहुंचकर पंचनामा बनाकर शव का पीएम कराया। मामले में एसडीएम ने बीएमओ से जांच कराने की बात कही है।

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में दौनी गांव की रहने वाली नंदकिशोर कुशवाहा की पत्नी बबलेश कुशवाहा उम्र 21 वर्ष को पेट में दर्द हुआ। परिजन उसे प्रसव के लिए अस्पताल लेकर पहुंचे। अस्पताल में महिला को भर्ती कराया गया। जहां उसकी सामान्य डिलेवरी हुई। महिला ने लाड़ली लक्ष्मी को जन्म दिया और यह महिला का पहला प्रसव था। प्रसव के बाद अस्पताल प्रबंधन ने महिला को वार्ड में भर्ती कराया, भर्ती के बाद महिला ने नवजात को दूध पिलाने के बाद अस्पताल से मिलने वाले नाश्ते को किया। जिसके कुछ देर बाद अचानक से महिला को हालत बिगड़ी तो अस्पताल प्रबंधन ने महिला को रैफर कर दिया, लेकिन महिला रैफर होकर छतरपुर जिला अस्पताल जा पाती लेकिन उससे पहले ही महिला की मौत हो गई। महिला की मौत पर परिजनों का आरोप है कि अस्पताल के स्टाफ ने प्रसव के एवज में रुपए की मांग की थी,रूपये न मिलने के कारण अस्पताल में मौजूद स्टाफ के ऊपर लापरवाही करने के आरोप लगाए। 

मामले की सूचना एसडीएम विशा माधवानी को घटना की जानकारी लगी। उन्होंने तत्काल नायब तहसीलदार सहित राजस्व टीम को अस्पताल भेजा। राजस्व टीम में हरनारायण शर्मा पटवारी शामिल रहे। राजस्व टीम पंचनामा तैयार किया और एसडीएम ने बीएमओ को नोटिस जारी कर पूरे मामले की जांच कर जवाब मांगा है। वहीं थाना नौगांव में जीरो पर मर्ग कायम कर महिला के शव का पोस्टमार्टम कराया गया शाम को शव परिजनों को सौंप दिया गया।

इस मामले में अस्पताल में पदस्थ गायनोलोजिस्ट डॉक्टर प्रियंका चौहान का कहना है कि अस्पताल में सुरक्षित प्रसव हुआ है, प्रसव के बाद महिला ने नवजात शिशु को फीडिंग भी कराई महिला ने नाश्ता भी किया, इसके कुछ घंटों बाद महिला की हालत बिगड़ गई। हालत बिगड़ने पर जिला चिकित्सालय रैफर किया, लेकिन रैफर होने से पहले महिला की मौत हो गई। जिसमें बाद परिजन के द्वारा लगाए गए आरोप गलत हैं।

लापरवाही पर कार्रवाई की जाएगी-

 मैं विकास यात्रा में था। जैसे ही मुझे जानकारी लगी तो मैं अस्पताल पहुंचा। इस मामले में जिसकी भी लापरवाही होगी और जिसने भी पैसे मांगे होंगे उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

(डॉ. रविंद्र पटेल, बीएमओ सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र नौगांव) 

मामले में जांच के बाद कार्रवाई होगी-तत्काल सबइंस्पेक्टर राजकुमार यादव और एक एएसआई को अस्पताल भेजा। जिन्होंने पंचनामा बनाकर पोस्टमार्टम कराया और शव परिजन को सौंप दिया है। आगे मामले में जांच के दौरान जो तथ्य सामने आएंगे उसी आधार पर कार्रवाई की जाएगी। फिलहाल अभी मर्ग कायम किया गया है। 

-सतीश सिंह, 

थाना प्रभारी नौगांव

--- इसे भी पढ़ें ---

Ads on article

Advertise in articles 1

advertising articles 2

Advertise under the article

-->